बुधवार, 11 मई 2011

नया सवेरा से नई शुरुआत

हिन्दी ब्लाग की दुनिया में ये मेरा पहला कदम है...अब तक मैं लोगों के ब्लाग को पढ़ता था...लेकिन लिखा कुछ भी नहीं था...मेरे मन में भी कुछ लिखने की इच्छा होती है...लेकिन अब मैं भी एक शुरुआत करने जा रहा हूं...दोस्तों आप सभी का प्यार और स्नेह की जरूरत हैं मुझे...मुझे उम्मीद है कि आप सभी का प्यार और स्नेह मुझे जरूर मिलेगा।

2 टिप्‍पणियां:

  1. अपनी भाषा और संस्कृति से प्रेम करने वाले हर इंसान का मै समर्थन करता हूँ, आप यु ही लिखते रहिये और मेरा प्रथम मित्रवत स्नेह स्वीकार कीजिये मै भी छत्तीसगढ़ी मिटटी क़ी पैदाईश हूँ , मगर दुर्भाग्य वश दूर रहता हूँ , आप मेरा ब्लॉग पढ़ सकते है .
    http://anil-mistery.blogspot.com/2011/06/blog-post_19.html

    उत्तर देंहटाएं
  2. MAK हौसला आफजाई के लिए कोटि-कोटि धन्यवाद, आपने आपने प्रोफाइल में भिलाई का जिक्र किया है। लेकिन आप वास्तव में कहां है इसका पता नहीं चलता। सबसे पहले प्रोफाइल को संशोधित करने का कष्ट करें। इस बात का गम नहीं होना चाहिए की हम छत्तीसगढ़ से बाहर हैं। छत्तीसगढ़ से बाहर रहकर भी अपनी पवित्र धरती मां के लिए बहुत कुछ कर सकते हैं ऐसा मेरा मानना है। मै यहां इस बात का जिक्र जरूर करूंगा कि मै भी साल 2008 से अपने प्रदेश से बहूत दूर था अब जाके अपने पावन धरा पर पहुंच सका हूं। ऐसे ही आप भी बहुत जल्द इस धरती पर कदम रखेंगे। छत्तीसगढ़ के माटीपुत्र में मेरा प्रणाम और गाड़ा-गाड़ा सुभकामना छत्तीसगढ़ी के बारे में सोचने के लिए...

    उत्तर देंहटाएं